Saturday, April 25, 2009

फिर वादा करके जाता सूरज

(चित्र को बड़ा करके देखने के लिए चित्र पर क्लिक करें)

पेनांग बीच (समुद्र का किनारा) पर होता सूर्यास्त
स्थान-लंग्कावी (मलेशिया)
फोटोग्राफर- नितिन जैन


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 पाठकों का कहना है :

Unknown का कहना है कि -

nature ka asli rup

Divya Narmada का कहना है कि -

जाता है या आता सूरज

जग को नही बताता सूरज.

करो अहर्निश मेहनत अनथक

कहता नहीं दिखाता सूरज.

कनकाभित रश्मियाँ मोहतीं

दस दिश में फैलाता सूरज..

नील गगन पीताभ हुआ है

नभ को गले लगता सूरज.

ऊषा-संध्या दोनों के संग.

जी भर रास रचाता सूरज.

लगे ठण्ड में सबसे प्यारा.

गर्मी में झुलसाता सूरज.

स्नेह-सलिल में स्वयं नहाकर

अग-जग को नहलाता सूरज......

______________________

Unknown का कहना है कि -


longchamp bags
canada goose
ysl outlet
kd 9 shoes
celine outlet
ugg australia
air jordan uk
true religion
ray ban sunglasses
coach factory outlet
2016105caiyan

yanmaneee का कहना है कि -

yeezy boost 350
yeezy boost 350 v2
calvin klein outlet
nike react
kd 13
calvin klein underwear
off white shoes
retro jordans
longchamp bags
golden goose sneakers

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)